Search

लोड हो रहा है. . .

सोमवार, मई 16, 2011

अंक ज्योतिष और स्वास्थ

अंक ज्योतिष-स्वास्थ, अंक रोग, अंक बिमारी, बीमारी, अन्क ज्योतिष, अंक शास्त्र हेल्थ, અંક જ્યોતિષ-સ્વાસ્થ, અંક રોગ, અંક બિમારી, બીમારી, અન્ક જ્યોતિષ, અંક શાસ્ત્ર હેલ્થ, ಅಂಕ ಜ್ಯೋತಿಷ-ಸ್ವಾಸ್ಥ, ಅಂಕ ರೋಗ, ಅಂಕ ಬಿಮಾರೀ, ಬೀಮಾರೀ, ಅನ್ಕ ಜ್ಯೋತಿಷ, ಅಂಕ ಶಾಸ್ತ್ರ ಹೇಲ್ಥ, அம்க ஜ்யோதிஷ-ஸ்வாஸ்த, அம்க ரோக, அம்க பிமாரீ, பீமாரீ, அந்க ஜ்யோதிஷ, அம்க ஶாஸ்த்ர ஹேல்த, అంక జ్యోతిష-స్వాస్థ, అంక రోగ, అంక బిమారీ, బీమారీ, అన్క జ్యోతిష, అంక శాస్త్ర హేల్థ, അംക ജ്യോതിഷ-സ്വാസ്ഥ, അംക രോഗ, അംക ബിമാരീ, ബീമാരീ, അന്ക ജ്യോതിഷ, അംക ശാസ്ത്ര ഹേല്ഥ, ਅਂਕ ਜ੍ਯੋਤਿਸ਼-ਸ੍ਵਾਸ੍ਥ, ਅਂਕ ਰੋਗ, ਅਂਕ ਬਿਮਾਰੀ, ਬੀਮਾਰੀ, ਅਨ੍ਕ ਜ੍ਯੋਤਿਸ਼, ਅਂਕ ਸ਼ਾਸ੍ਤ੍ਰ ਹੇਲ੍ਥ, অংক জ্যোতিষ-স্ৱাস্থ, অংক রোগ, অংক বিমারী, বীমারী, অন্ক জ্যোতিষ, অংক শাস্ত্র হেল্থ, ଅଂକ ଜ୍ଯୋତିଷ-ସ୍ବାସ୍ଥ୍ୟ, ଅଂକ ରୋଗ, ଅଙ୍କ ବିମାରୀ, ବୀମାରୀ, ଅନ୍କ ଜ୍ଯୋତିଷ, ଅଂକ ଶାସ୍ତ୍ର ହେଲ୍ଥ, anka jyotisha-svastha, anka roga, anka bimarI, bImarI, anka jyotisha, anka sastra heltha, Numerology - health, disease Numerology, Numerology illness, disease, Ank Jyotish, Numerology Health Science,

अंक ज्योतिष और स्वास्थ

मूलांक : अर्थात जन्म तिथी या जन्म तारिख
भाग्यांक: अर्थात जन्म तारिख + माह + वर्ष का जोड = भाग्यांक

मूलांक-1:जन्म दिनांक 1,10,19,28
स्वास्थ्यः जब मूलांक 1 वाले व्यक्ति के जीवन में रोग की स्थिती आती हैं, तो उनको तीव्र ज्वर, हृदय रोग, आँख, चर्म रोग, मस्तिष्क संबंधि परेशानि, अपच, गठिआ, स्नायुविकार, चोट, कोढ़, आंतों के रोग तथा घुटने आदि की शिकायते रहती हैं। जिन व्यक्तियों का मूलांक 1 होता हैं वे किसी ना किसी रूप में हृदय से ……………..>>
आहारः किशमिश, सौंफ, केसर, कालीमिर्च, लौंग, आजवाईन, जायफल, खजूर, ……………..>>
सावधानी: आपको जनवरी, अक्तूबर और दिसंबर के महीनों में अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग रहना चाहिए।

मूलांक-2: जन्म दिनांक 2,11,20,29
स्वास्थ्यः मूलांक 2 वाले व्यक्ति के जीवन में रोग की स्थिती आती हैं, तो उनको कमजोरी, उदर, उद्वेग, मानसिक पीड़ा, दुर्घटना, पाचन तंत्र ……………..>>
आहारः केला, ककड़ी, कलींदा, कुम्हड़ा, पत्ता गोभी, ……………..>>
सावधानी: आपको जनवरी, फरवरी और जुलाई के महीनों में स्वास्थ्य व खान-पान आदि में सावधानी बरतना चाहिए।

मूलांक-3: जन्म दिनांक 3,12,21,30
स्वास्थ्यः व्यक्ति को प्रायः हड्डियों में दर्द रहता हैं और थकावट सी रहती हैं। अत्यधिक परिश्रमि होते हैं अतः अति परिश्रम कारण वे थके से रहते हैं। स्नायु तंत्र कमजोर ……………..>>
आहारः चेरी, स्ट्रोबेरी, सेब, नाशपती, अनार, अनानस, अंगूर, ……………..>>
सावधानी: आपको फरवरी, जून, सिंतबर और दिसंबर में अपनी सेहत का विशेष रूप से ख्याल रखना चाहिए।

मूलांक-4:जन्म दिनांक 4,13,22,31
स्वास्थ्यः व्यक्ति प्रायः रक्त की कमी से पीड़ित रहते हैं। रक्त की कमी से अनेक रोग हो सकते हैं। ऐसे व्यक्तियों को लोहतत्व युक्त भोजन करना चाहियें। चलने-फिरने तथा श्वास ……………..>>
आहारः हरी शब्जीयां, करेला, नीम, मीठे फल, लौकी, ककड़ी, खीरा, ……………..>>
सावधानी: आपको जनवरी, फरवरी, जुलाई, अगस्त व सितंबर इन पांच महीनों में अपने स्वास्थ्य पर विशेष गौर करना चाहिए।

मूलांक-5:जन्म दिनांक 5,14,23
स्वास्थ्यः व्यक्ति प्रायः सर्दी, जुकाम आदि से पीड़ित रहना पड़ता हैं। नर्वस ब्रेकडाउन का भी भय बना रहता हैं। कण्ठ रोग, जीभ संबंधि रोग, अनिद्रा, कंधे में दर्द, हड्डियों संबंधि ……………..>>
आहारः सेब, केला, चीकू, अनार, अनानस, अंगूर, पुदिना, गाजर, ……………..>>
सावधानी: आपको जून, सिंतबर और दिसंबर के महीनों में अपने स्वास्थ्य के बारे में सावधानी बरतना चाहिए।

मूलांक-6:जन्म दिनांक 6,15,24
स्वास्थ्यः व्यक्ति फेफड़ो के रोग से ग्रसित रहते हैं। नाक, कान, गला, आँख, जीभ, दांत, अंगुली, नाखून, हड्डि, वीर्य संबंधि बीमारियां हुआ करती हैं। फेफडे, मूर्च्छा आना, ……………..>>
आहारः तरबूज, खरबूज, आम, सेब, नासपती, अनार, पालक, गाजर, ……………..>>
सावधानी: आपको मई, अक्तूबर एवं नवंबर के महीने अंक ६ के इन महीनों में उन्हें सावधानी रखनी चाहिए।

मूलांक-7: जन्म दिनांक 7,16,25
स्वास्थ्यः व्यक्ति को चर्मरोग घेरे रहते हैं। खुजली या दाद होनेकी संभावना बनी रही हैं। चर्म संबंधि शिकायत होती ही रहती हैं। आँख, उदर तथा फेफड़ों से संबंधि बीमारियां, ……………..>>
आहारः सेब ,अंगूर, संतरा, ककड़ी, प्याज, मूली, गाजर, ……………..>>

>> Read Full Article In GURUTVA JYOTISH May-2011
सावधानी: आपको जनवरी-फरवरी और जुलाई-अगस्त के चार महीनों में अपने स्वास्थ्य के प्रति पूर्ण सावधानी रखनी चाहिए।

मूलांक-8: जन्म दिनांक 8,17,26
स्वास्थ्यः व्यक्ति को जिगर से संबंधि रोग लगे रहते हैं। व्यक्ति के लीवर कमजोर होन की वजह से अन्य अनेक बीमारियां आकर घेर लेती हैं। व्यसनों से हरदम दूर रहना चाहिये। दुर्बलता, ……………..>>
आहारः संतरा, पपीता, अनानस, नींबू, हरी सब्जियां, ककड़ी, खीरा, धनियां, ……………..>>
सावधानी: आपको जनवरी, फरवरी, जुलाई और दिसंबर के महीनों में पूर्ण रूप से सावधान रहने का संकेत दिया है

मूलांक-9:जन्म दिनांक 9,18,27
स्वास्थ्यः व्यक्ति चर्मरोग तथा नासारंध्र से संबंधित जुकाम आदि रोगों से पीड़ित हो सकते हैं। मस्तिष्क संबंधित रोग, जननेन्द्रिय संबंधित रोग, ज्वर, खसरा, मूत्र रोग, ……………..>>
आहारः संतरा, अमरूद, अंगूर, केला, ककड़ी, तोरई, मीठे फल, खीरा, ……………..>>
सावधानी: आपको पूरे वर्ष अपनी सेहत का ख्याल रखना चाहिए।


संपूर्ण लेख पढने के लिये कृप्या गुरुत्व ज्योतिष ई-पत्रिका मई-2011 का अंक पढें।

इस लेख को प्रतिलिपि संरक्षण (Copy Protection) के कारणो से यहां संक्षिप्त में प्रकाशित किया गया हैं।



>> http://gk.yolasite.com/resources/GURUTVA%20JYOTISH%20MAY-2011.pdf  
इससे जुडे अन्य लेख पढें (Read Related Article)


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें