Google+

सोमवार, मई 03, 2010

गृह प्रवेश एवं वास्तु भाग:१

Gruha pravesha evm vastu bhag:1, gruh arambha evm vastu part:1


गृह प्रवेश एवं वास्तु भाग:१

गृहारम्भ और गृह प्रवेश करते समय अपने कुलदेवता, ईष्ट देवता, गणेश, क्षेत्रपाल, वास्तुदेवता और दिक्पतिकी विधिवत् पूजा करनी चहिये ।

विद्वान ब्राह्मण, घर बनाने वाले कारीगर, द्विज और शिल्पी को धन, वस्त्र और अलंकार भेट स्वरुप देकर उन्हे विधिवत् सन्तुष्ट करने से घरमें सदा सुख शांति एवं समृद्धि बनी रहती हैं ।

जिस भवन मे गृहारम्भ या गृहप्रवेश करते समय वास्तुपूजा करता हैं, उस भवन में सर्वदा आरोग्य, पुत्र, धन और धान्य से परिपूर्ण एवं सुखी होता हैं ।

जिस भवन मे बिना वास्तु पूजा कराके गृहारम्भ और गृह प्रवेश होता हैं उस भवन में रहने वाले व्यक्ति नाना प्रकारके रोग, क्लेश और संकटो से संम्मुखिन होते हैं ।
इससे जुडे अन्य लेख पढें (Read Related Article)


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Feedback

कृप्या अपना पूरा नाम लिखे

अपना मोबाईल या फोन नंबर लिखे

ईमेल पता भरे

प्रतिक्रिया
हमारे ब्लोग को रेटिंग दे


आप हमारे द्वारा और क्या सेवा ये चाहते है जो अन्य ब्लोग अथवा वेब साइट पर उप्लब्ध हो?

Need assistance with this form?

PUBLIC NOTICE

  • हमारे द्वारा पोस्ट किये गये सभी लेख हमारे वर्षो के अनुभव एवं अनुशंधान के आधार पर लिखे होते हैं।
  • हम किसी भी व्यक्ति विशेष द्वारा प्रयोग किये जाने वाले मंत्र- यंत्र या अन्य प्रयोग या उपायोकी जिन्मेदारी नहिं लेते हैं।
  • यह जिन्मेदारी मंत्र-यंत्र या अन्य प्रयोग या उपायोको करने वाले व्यक्ति कि स्वयं कि होगी।
  • क्योकि प्रयोग के करने मे त्रुटि होने पर प्रतिकूल परिणाम संभव हैं।
  • हमारे द्वारा पोस्ट किये गये सभी मंत्र-यंत्र या उपाय हमने सैकडोबार स्वयं पर एवं अन्य हमारे बंधुगण पर प्रयोग किये हैं जिस्से हमे हर प्रयोग या मंत्र-यंत्र या उपायो द्वारा निश्चित सफलता प्राप्त हुई हैं।
  • अधिक जानकारी हेतु आप हमसे संपर्क कर सकते हैं।
(सभी विवादो केलिये केवल भुवनेश्वर न्यायालय ही मान्य होगा।)