Search

लोड हो रहा है. . .

शुक्रवार, जुलाई 01, 2011

गुरुत्व ज्योतिष ई पत्रीका जूलाई 2011 में प्रकशित लेख


July 2011 free monthly Astrology Magazines, You can read in Monthly GURUTVA JYOTISH Magazines Astrology, Numerology, Vastu, Gems Stone, Mantra, Yantra, Tantra, Kawach & ETC Related Article absolutely free of cost. गुरुत्व ज्योतिष मासिक ई पत्रीका ज्योतिष, अंक ज्योतिष, वास्तु, रत्न, मंत्र, यंत्र, तंत्र, कवच इत्यादि प्राचिन गूढ सहस्यो एवं आध्यात्मिक ज्ञान से आपको परिचित कराती हैं।



guru poornima-2011, guru purnima-2011, shravan mas-2011, srawan masha, गुरु पुर्णिमा, गुरु पूर्णीमा,  गुरु पूर्णीमा,  श्रीहरि शयनी एकादशी, देव शयनी एकादशी व्रत, चातुर्मास व्रत-नियम प्रारंभ, गुरु पूर्णिमा, व्यास पूर्णिमा, स्नान-दान हेतु उत्तम आषाढ़ी पूर्णिमा, मुड़िया पूनम-गोवर्धन परिक्रमा (ब्रज), दक्षिणामूर्ति-पूजन, कनखल-कर्णघंटा में स्नान, संन्यासियों का चातुर्मास प्रारंभ, जयापार्वती व्रत पूर्ण, मैथिल साल 1419 शुरू, साईंबाबा उत्सव पूर्ण (शिरडी), बौद्धों का धर्मचक्र-प्रवर्तन (सारनाथ), श्रावण मास प्रारंभ, सावन मास-शिर्वाचन शुरू, शिव पूजा, शिव उपासना, शिव मंत्र, शिव मन्त्र, शीव, सावन सोमवार, श्रावण सोमवार,   गुरु पुर्णिमा, गुरु पूर्णीमा,  गुरु पूर्णीमा, व्यास पूर्णिमा, स्नान-दान हेतु उत्तम आषाढ़ी पूर्णिमा, मुड़िया पूनम,  चातुर्मास, चातूर्मास, शयनी एकादशी, देव शयनी एकादशी व्रत, शिव पूजा, शिव उपासना, शिव मंत्र, शिव मन्त्र, शीव, सावन सोमवार, श्रावण सोमवार,  ગુરુ પુર્ણિમા, ગુરુ પૂર્ણીમા,  ગુરુ પૂર્ણીમા, વ્યાસ પૂર્ણિમા, સ્નાન-દાન હેતુ ઉત્તમ આષાઢ઼્ઈ પૂર્ણિમા, મુડ઼્ઇયા પૂનમ,  ચાતુર્માસ, ચાતૂર્માસ, શયની એકાદશી, દેવ શયની એકાદશી વ્રત, શિવ પૂજા, શિવ ઉપાસના, શિવ મંત્ર, શિવ મન્ત્ર, શીવ, સાવન સોમવાર, શ્રાવણ સોમવાર,   ಗುರು ಪುರ್ಣಿಮಾ, ಗುರು ಪೂರ್ಣೀಮಾ,  ಗುರು ಪೂರ್ಣೀಮಾ, ವ್ಯಾಸ ಪೂರ್ಣಿಮಾ, ಸ್ನಾನ-ದಾನ ಹೇತು ಉತ್ತಮ ಆಷಾಢ಼್ಈ ಪೂರ್ಣಿಮಾ, ಮುಡ಼್ಇಯಾ ಪೂನಮ,  ಚಾತುರ್ಮಾಸ, ಚಾತೂರ್ಮಾಸ, ಶಯನೀ ಏಕಾದಶೀ, ದೇವ ಶಯನೀ ಏಕಾದಶೀ ವ್ರತ, ಶಿವ ಪೂಜಾ, ಶಿವ ಉಪಾಸನಾ, ಶಿವ ಮಂತ್ರ, ಶಿವ ಮನ್ತ್ರ, ಶೀವ, ಸಾವನ ಸೋಮವಾರ, ಶ್ರಾವಣ ಸೋಮವಾರ,  குரு புர்ணிமா, குரு பூர்ணீமா,  குரு பூர்ணீமா, வ்யாஸ பூர்ணிமா, ஸ்நாந-தாந ஹேது உத்தம ஆஷாடீ பூர்ணிமா, முடியா பூநம,  சாதுர்மாஸ, சாதூர்மாஸ, ஶயநீ ஏகாதஶீ, தேவ ஶயநீ ஏகாதஶீ வ்ரத, ஶிவ பூஜா, ஶிவ உபாஸநா, ஶிவ மம்த்ர, ஶிவ மந்த்ர, ஶீவ, ஸாவந ஸோமவார, ஶ்ராவண ஸோமவார,   గురు పుర్ణిమా, గురు పూర్ణీమా,  గురు పూర్ణీమా, వ్యాస పూర్ణిమా, స్నాన-దాన హేతు ఉత్తమ ఆషాఢీ పూర్ణిమా, ముడియా పూనమ,  చాతుర్మాస, చాతూర్మాస, శయనీ ఏకాదశీ, దేవ శయనీ ఏకాదశీ వ్రత, శివ పూజా, శివ ఉపాసనా, శివ మంత్ర, శివ మన్త్ర, శీవ, సావన సోమవార, శ్రావణ సోమవార,  ഗുരു പുര്ണിമാ, ഗുരു പൂര്ണീമാ,  ഗുരു പൂര്ണീമാ, വ്യാസ പൂര്ണിമാ, സ്നാന-ദാന ഹേതു ഉത്തമ ആഷാഢീ പൂര്ണിമാ, മുഡിയാ പൂനമ,  ചാതുര്മാസ, ചാതൂര്മാസ, ശയനീ ഏകാദശീ, ദേവ ശയനീ ഏകാദശീ വ്രത, ശിവ പൂജാ, ശിവ ഉപാസനാ, ശിവ മംത്ര, ശിവ മന്ത്ര, ശീവ, സാവന സോമവാര, ശ്രാവണ സോമവാര,   ਗੁਰੁ ਪੁਰ੍ਣਿਮਾ, ਗੁਰੁ ਪੂਰ੍ਣੀਮਾ,  ਗੁਰੁ ਪੂਰ੍ਣੀਮਾ, ਵ੍ਯਾਸ ਪੂਰ੍ਣਿਮਾ, ਸ੍ਨਾਨ-ਦਾਨ ਹੇਤੁ ਉੱਤਮ ਆਸ਼ਾਢ਼੍ਈ ਪੂਰ੍ਣਿਮਾ, ਮੁਡ਼੍ਇਯਾ ਪੂਨਮ,  ਚਾਤੁਰ੍ਮਾਸ, ਚਾਤੂਰ੍ਮਾਸ, ਸ਼ਯਨੀ ਏਕਾਦਸ਼ੀ, ਦੇਵ ਸ਼ਯਨੀ ਏਕਾਦਸ਼ੀ ਵ੍ਰਤ, ਸ਼ਿਵ ਪੂਜਾ, ਸ਼ਿਵ ਉਪਾਸਨਾ, ਸ਼ਿਵ ਮਂਤ੍ਰ, ਸ਼ਿਵ ਮਨ੍ਤ੍ਰ, ਸ਼ੀਵ, ਸਾਵਨ ਸੋਮਵਾਰ, ਸ਼੍ਰਾਵਣ ਸੋਮਵਾਰ,    গুরু পুর্ণিমা, গুরু পূর্ণীমা,  গুরু পূর্ণীমা, ৱ্যাস পূর্ণিমা, স্নান-দান হেতু উত্তম আষাঢ়ী পূর্ণিমা, মুড়িযা পূনম,  চাতুর্মাস, চাতূর্মাস, শযনী একাদশী, দেৱ শযনী একাদশী ৱ্রত, শিৱ পূজা, শিৱ উপাসনা, শিৱ মংত্র, শিৱ মন্ত্র, শীৱ, সাৱন সোমৱার, শ্রাৱণ সোমৱার,   ଗୁରୁ ପୁର୍ଣିମା, ଗୁରୁ ପୂର୍ଣୀମା,  ଗୁରୁ ପୂର୍ଣୀମା, ବ୍ୟାସ ପୂର୍ଣିମା, ସ୍ନାନ-ଦାନ ହେତୁ ଉତ୍ତମ ଆଷାଢ଼ୀ ପୂର୍ଣିମା, ମୁଡ଼ିଯା ପୂନମ,  ଚାତୁର୍ମାସ, ଚାତୂର୍ମାସ, ଶଯନୀ ଏକାଦଶୀ, ଦେଵ ଶଯନୀ ଏକାଦଶୀ ଵ୍ରତ, ଶିଵ ପୂଜା, ଶିଵ ଉପାସନା, ଶିଵ ମଂତ୍ର, ଶିଵ ମନ୍ତ୍ର, ଶୀଵ, ସାଵନ ସୋମବାର, ଶ୍ରାଵଣ ସୋମବାର,  guru purNimA, guru pUrNImA,  guru pUrNImA, vyAs pUrNimA, snAn-dAn hetu uttam AShADhxI pUrNimA, muDxiyA pUnam,  cAturmAs, cAtUrmAs, SayanI ekAdaSI, dev SayanI ekAdaSI vrat, Siv pUjA, Siv upAsanA, Siv maMtr, Siv mantr, SIv, sAvan somavAr, SrAvaN somavAr, 


विशेष लेख
गुरु प्रार्थना
5
जब दुर्वासाजी ने श्री कृष्ण की परिक्षाली।
7
गुरुमंत्र के प्रभाव से ईष्ट दर्शन
11
गुरुमंत्र के प्रभाव से रक्षा
13
गुरुमंत्र के जप से अलौकिक सिद्धिया प्राप्त होती हैं
14
आरुणि की गुरुभक्ति
18
सद् गुरु के त्याग से दरिद्रता आती हैं
19
मंत्र जप से प्राप्त हुवा शास्त्रज्ञान
21
एकलव्य की गुरुभक्ति
22
श्रीकृष्ण की गुरूसेवा
23
देवर्षि नारद ने एक मल्लाह को अपना गुरु बनाया
25
श्रीमद् आद्य शंकराचार्य सदगुरू
27
रुद्राभिषेक से कामनापूर्ति
33
रुद्राभिषेकस्तोत्र
35
सोमवार को शिवपूजन का महत्व क्या हैं?
36
शिव कृपा हेतु उत्तम श्रावण मास
37
श्रावण मास के सोमवार व्रत से भौतिक कष्टो से मुक्ति मिलती हैं
40
आध्यात्मिक उन्नति हेतु उत्तम चातुर्मास व्रत
41
क्यों शिव को प्रिय हैं बेल पत्र?
43
श्रावण सोमवार व्रत कैसे करें?
45
रुद्राक्ष धारण से कामनापूर्ति
46
एक मुखी से 12 मुखी रुद्राक्ष धारण करने के लाभ
48
चातुर्मास में मांगलिक कार्य वर्जित हैं।
50
अनुक्रम
संपादकीय
4
गुर्वष्टकम्
6
श्रीकृष्ण बीसा यंत्र
10
श्री गुरु स्तोत्रम्
31
हस्तरेखा ज्ञान
32
सर्व कार्य सिद्धि कवच
51
राम रक्षा यंत्र
42
विद्या प्राप्ति हेतु सरस्वती कवच और यंत्र
53
मंत्र सिद्ध पन्ना गणेश
53
मंत्र सिद्ध सामग्री
54
मासिक राशि फल
57
राशि रत्न
61
जुलाई 2011 मासिक पंचांग
60
जुलाई -2011 मासिक व्रत-पर्व-त्यौहार
64
मंत्र सिद्ध सामग्री
67
जुलाई 2011 -विशेष योग
68
दैनिक शुभ एवं अशुभ समय ज्ञान तालिका
68
दिन-रात के चौघडिये
69
दिन-रात कि होरा सूर्योदय से सूर्यास्त तक
70
ग्रह चलन जुलाई -2011
71
सर्व रोगनाशक यंत्र/कवच
72
मंत्र सिद्ध कवच
74
YANTRA LIST
75
GEM STONE
77
BOOK PHONE/ CHAT CONSULTATION
78
सूचना
79
हमारा उद्देश्य
81



 (File Size : 2.54 MB)

ई मेल द्वारा हमारे नये लेख प्राप्त करने हेतु नीचे अपना ई-मेल प्रता भरें।
Receive an email notification our new post on Blog, Sumbit Your EmailID Below.



Enter your email address:


Delivered by FeedBurner
इससे जुडे अन्य लेख पढें (Read Related Article)


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें