Search

लोड हो रहा है. . .

मंगलवार, मार्च 01, 2011

शिव पूजन से कामना सिद्धि

शिव पूजन से कामना सिद्धि- कार्य सिद्धि, શિવ પૂજન સે કામના સિદ્ધિ- કાર્ય સિદ્ધિ, ಶಿವ ಪೂಜನ ಸೇ ಕಾಮನಾ ಸಿದ್ಧಿ- ಕಾರ್ಯ ಸಿದ್ಧಿ, ஶிவ பூஜந ஸே காமநா ஸித்தி- கார்ய ஸித்தி, శివ పూజన సే కామనా సిత్తి- కార్య సిత్తి,  ശിവ പൂജന സേ കാമനാ സിത്തി- കാര്യ സിത്തി, ਸ਼ਿਵ ਪੂਜਨ ਸੇ ਕਾਮਨਾ ਸਿੱਤਿ- ਕਾਰ੍ਯ ਸਿੱਤਿ, শিৱ পূজন সে কামনা সিত্তি- কার্য সিত্তি, Siv pUjan se kAmanA sitti- kAry sitti, ଶିବ ପୂଜନ କାମନା ସିଦ୍ଧି-କାର୍ୟ ସିଦ୍ଧି, Shiva Pooja for Wished fulfillment, Shiva Pooja for wish accomplishment, Shiva Pooja For achievement, substantiation, wish Achievement from the Shiva Pooja, Pooja Shiva For Desire fulfillment, Pooja Shiva For all round success,

शिव पूजन से कामना सिद्धि

शिवलिंग पर गंगा जल से अभिषेक करने से भौतिक सुख प्राप्त होता हैं एवं मनुष्य को मोक्ष कि प्राप्ति होती हैं।
शिव पुराण के अनुशार शिवलिंग पर अन्न, फूल एवं विभिन्न वस्तुओं से जलाभिषेक कर मनुष्य के समस्त प्रकार के कष्टोका निवारण किया जासकता हैं।
निम्न साधना शिव प्रतिमा(मूर्ति) के समक्ष करने से शीघ्र लाभ प्राप्त होते हैं।
  • लक्ष्मी प्राप्ति हेतु भगवान शिव को बिल्वपत्र, कमल, शतपत्र एवं शंखपुष्प अर्पण करने से लाभ प्राप्त होता हैं।
  • पुत्र प्राप्ति हेतु भगवान शिव को धतुरे के फूल अर्पण करने से शुभ फल कि प्राप्ति होती हैं।
  • भौतिक सुख एवं मोक्ष प्राप्ति हेतु स्वेत आक, अपमार्ग एवं सफेद कमल के फूल भगवान शिव को चढाने से लाभ प्राप्त होता हैं।
  • वाहन सुख कि प्राप्ति हेतु चमेली के फूल भगवान शिव को चढाने से शीघ्र उत्तम वाहन प्राप्ति के योग बनते हैं।
  • विवाह सुख में आने वाली बाधाओं को दूर करने हेतु बेला के फूल भगवान शिव को चढाने से उत्तम पत्नी की प्राप्ति होती होती हैं एवं कन्या के फूल चढाने से उत्तम पति कि प्राप्ति होती हैं।
  • जूही के फूल भगवान शिव को चढाने से व्यक्ति को अन्न का अभाव नहीं होता हैं।
  • सुख सम्पत्ति की प्राप्ति हेतु भगवान शिव को हार सिंगार के फूल चढाने से लाभ प्राप्त होता हैं।
शिवलिंग पर अभिषेक हेतु प्रयोग
  • वंश वृद्धि हेतु शिवलिंग पर घी का अभिषेक शुभ फलदायी होता हैं।
  • भौतिक सुख साधनो में वृद्धि हेतु शिवलिंग पर सुगंधित द्रव्य से अभिषेक करने से शीघ्र उनमें बढोतरी होती हैं।
  • रोग निवृत्ति हेतु महामृत्युंजय मंत्र जप करते हुवे शहद (मधु) से अभिषेक करने से रोगों का नाश होता हैं।
  • रोजगार वृद्धि हेतु गंगाजल एवं शहद (मधु) से अभिषेक करने से लाभ प्राप्त होता हैं।
  • मानसिक अशांति व मानसिक कमजोरी के निवारण हेतु शिवलिंग पर जल अथवा दूध या दोनो के मिश्रण से अभिषेक करना चाहिए।
  • पारिवारीक अशांति के निवारण हेतु शिवलिंग पर दूध से अभिषेक करना चाहिए।
  • आनावश्यक कष्टो एवं दु:खो के निवारण हेतु शिवलिंग पर दूध से अभिषेक करना चाहिए।
विद्वानो के मत से अन्य सभी सामग्री से किये गये अभिषेक से गंगाजल से किया गया अभिषेक श्रेष्ठ फल प्रदान करने वाला होता हैं। एसी मान्यता हैं की गंगाजल से शिवलिंग का अभिषेक करने से से चारों पुरुषार्थ अर्थात धर्म, अर्थ, काम एवं मोक्ष की प्राप्ति होती हैं।
महाशिवरात्री एवं श्रवण मास में किये गये पूजन एवं अभिषेक से भगवान शिव की कृपा प्राप्ति के साथ-साथ माता पर्वती, गणेश और मां लक्ष्मी की भी कृपा प्राप्त होती हैं।
इससे जुडे अन्य लेख पढें (Read Related Article)


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें