Search

लोड हो रहा है. . .

मंगलवार, जनवरी 26, 2010

राशि से जानिये व्यक्तित्व

Rashi Se jaaniye Vyaktitv
राशि से जानिये व्यक्तित्व


ज्योतिष के अनुसार ब्रह्मांड मे स्थित ग्रह-नक्षत्रो एवं राशि के प्रभाव से हर व्यक्ति प्रभावित होता हैं। इसी वजह से सभी व्यक्ति का स्वभाव एवं व्यवहार एक दूसरे से अलग अलग होता हैं, एवं व्यक्ति जीवन भर उसी प्रभाव के अनुसार कार्य करता रेहता है।

जेसे कोई व्यक्ति छोटी-छोटी बात पर गुस्‍सा हो जाता हैं,  तो कोई व्यक्ति बात-बात पर चिड़-चिड़ा जाता हैं। तो कोई व्यक्ति स्वार्थी होता हैं वो अपने आपमे ही रमा रेहता हैं उसे ना अपने मित्र वर्ग की नाहीं अपने परिवार की परवा होती हैं।

कोई व्यक्ति कठोर तो कोई भावुक होता हैं। विभिन्न व्‍यक्ति की पहचान इन ग्रह-नक्षत्रो एवं राशि के प्रभाव से ही एक दूसरे से भिन्न होती हैं। एक व्‍यक्ति के स्‍वभाव पर उसके आसपास का माहौल का काफी प्रभावित होता हैं,

लेकिन किस व्‍यक्ति का स्‍वभाव कैसा होगा, यह उसके जन्‍म के समय स्थित ग्रह-नक्षत्रो एवं राशि के प्रभाव से ही तय हो जाता है।

जन्‍म लेते समय ग्रहों की स्थिति तय कर देती हैं कि व्‍यक्ति का स्‍वभाव आगे चलकर कैसा रहेगा!

व्‍यक्ति का जीवन कल्पना की उडाने भरने वाल होगा या धरातल पर रेह कर कार्य कर अपने स्वप्नो को पूरा करने वाला होगा।


कई बार किसी व्यक्ति का आचरण जो वह दिखाता हैं उस्से एक दम अलग होता हैं क्योकि वह अपने वास्तविक स्वभाव पर एक नकाब पेहने रेहता हैं, लेकिन ज्‍योतिष के माध्यम से आपको कुछ हद तक मदद मिल सकती हैं एवं व्यक्ति का वास्वविक स्वभाव को पेहचान सकते हैं।

इन सब कारणो से ही ज्योतिष मे मित्र-सम-शत्रु राशि जानने हेतु ग्रहो की पंचधा मैत्री चक्र (कोष्टक) की सहायता ली जाती हैं।
इससे जुडे अन्य लेख पढें (Read Related Article)


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें