Search

लोड हो रहा है. . .

बुधवार, जनवरी 20, 2010

सरस्वती यंत्र (यन्त्र)

Saraswati Tantra
सरस्वती यंत्र (यन्त्र)


इस यंत्र को अष्टगंध की स्याही अथवा रोली (कुमकुम) से अनार की कलम से भोजपत्र या स्फेद कागज पर बनाले।

यंत्र सुख जाने के पश्च्यात उसे अपने पूजा स्थान में अगली वसंत पंचमी तक रखले उस्के बाद उसे बेहती पानी मे विसर्जन कर दे एवं पुनः वसंत पंचमी पर नया यंत्र बनाले।



आप हमारे GURUTVA  KARYALAY  द्वारा संपूर्ण प्राण-प्रतिष्ठित एवं पूर्ण चैतन्य युक्त सरस्वती कवच एवं सरस्वती यंत्र प्राप्त कर सकते हैं।
इससे जुडे अन्य लेख पढें (Read Related Article)


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें