Search

लोड हो रहा है. . .

बुधवार, जनवरी 20, 2010

विद्या की प्राप्ति के विलक्षण उपाय(टोटके) (भाग-२)

Vidya ki Prapti ke Vilakshan Upay (Totke / Totake) (Bhag-2 / Part-2) 

विद्या की प्राप्ति के विलक्षण उपाय(टोटके)  (भाग-२)

पढाई करने वाली मेज(टेबल) पर आईना नहीं रखना चहीये।

पढाई करने वाली मेज(टेबल) पर शीशा नहीं रखना चहीये। शीशा रखने से मानसिक अशांति होती हैं। पढाई मे मन नहीं लगता।

पढाई के समय अपने पीछे खाली जगा न रखे अर्थात ठोस दीवार  की और पीठ कर के बेठे। खुली जगा पर नही बेठना चाहिये ये इस्से आत्म विश्वास की कमी रेहजाती है। खुली जगा वाले स्थिती में बच्चे ज्यादा समय तक पढाई करने के बावजुद उसे अधिक याद नही रेहपाता हैं।

अपनी बायीं (राईट हेंड) और पानी से भरा ग्लास रखें एवं इसे थोडा-थोडा पानी समय के अंतराल पर पीते रेहने से स्मरण शक्ति तेज़ होगी औए एकाग्रता में वृद्धि होती हैं।

मेज(टेबल) पर यथा संभव कम सामग्री रखे उस्से एकाग्रता बढती है। ज्यदा सामग्री रखने से नकारत्मक शक्ति (नेगेटिव एनर्जी) उतपन्न होती हैं जिस्से पढाई मे मन नहीं लगता।

मेज(टेबल) को दीवार से थोडा दूर रखे सटाकर न रखें , इससे  एकाग्रता भंग होती हैं।

रात को सोने से पूर्व चांदी के ग्लास मे पानी भरकर रखले और सुबह खाली पेट पानी पिले एसा करने से शिक्षा के क्षेत्र मे सफलता प्राप्ति होती हैं।

भोजन करते समय चांदी के बरतनो का उपयोग करने से लाभ प्राप्त होता विद्या  प्राप्ति में लाभ होता है।


इससे जुडे अन्य लेख पढें (Read Related Article)


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें