Search

लोड हो रहा है. . .

शुक्रवार, दिसंबर 25, 2009

देव- गायत्री मंत्र

Dev Gayatri Mantra
विभिन्न देव की प्रसन्नता के लिये गायत्री मंत्र

निम्न लिखीत मंत्रो मेसे किसे एक का प्रतिदिन पाठ करने से उनकी कृपा प्राप्त होती हैं।


ब्रम्हा गायत्री

ॐ वेदात्मने च विधमहे हिरंगार्भाय तन्नो ब्रह्म प्रचोदयात


विष्णु गायत्री

ॐ नारायण विधमहे वासुदेवाय धीमहि तन्नो विष्णु प्रचोदयात


शिव गायत्री

ॐ महादेवाय विधमहे, रुद्रमुर्तय धीमहि तन्नो शिव: प्रचोदयात


कृष्ण गायत्री

ॐ देव्किनन्दनाय विधमहे, वासुदेवाय धीमहि तन्नो कृष्ण:प्रचोदयात


इन्द्र गायत्री

ॐ सहस्त्र नेत्राए विधमहे वज्रहस्ताय धीमहि तन्नो इन्द्र:प्रचोदयात


हनुमान गायत्री

ॐ अन्जनिसुताय विधमहे वायु पुत्राय धीमहि, तन्नो मारुती :प्रचोदयात

यम गायत्री

ॐ सुर्यपुत्राय विधमहे, महाकालाय धीमहि तन्नो यम् :प्रचोदयात


राम गायत्री

ॐ दशारथाय विधमहे सीता वल्लभाय धीमहि तन्नो राम :प्रचोदयात


वरुण गायत्री

ॐ जल बिम्बाय विधमहे नील पुरु शाय धीमहि तन्नो वरुण :प्रचोदयात



नारायण गायत्री

ॐनारायण विधमहे, वासुदेवाय धीमहि तन्नो नारायण :प्रचोदयात



हयग्रीव गायत्री

ॐ वाणीश्वराय विधमहे, हयग्रीवाय धीमहि तन्नो हयग्रीव :प्रचोदयात
इससे जुडे अन्य लेख पढें (Read Related Article)


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें