Search

लोड हो रहा है. . .

गुरुवार, अक्तूबर 07, 2010

नवरात्र व्रत

केसे करे नवरात्र व्रत, केसे करे शारदीय नवरात्रि व्रत, केसे करे शारदीय नवरात्री व्रत, kare navaratra vrata, kare navaratri vrata, kare navaratree vrata, navaratra se sambandhit upyogi sujhav, navaratra me kya khaye,

नवरात्र व्रत

नव दिनों तक चलने वाले इस पर्व पर हम व्रत रखकर मां के नौ अलग-अलग रूप की पूजा किजाती हैं। इस दौरान घर में किया जाने वाला विधिवत हवन भी स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभप्रद हैं। हवन से आत्मिक शांति और वातावरण कि शुद्धि के अलावा घर नकारात्मक शक्तियों का नाश हो कर सकारात्मक शक्तियो का प्रवेश होता हैं।
नवरात्र व्रत नवरात्र में नव रात्र से लेकर सात रात्री,पांच रात्री, दों रात्री और एक रात्री व्रत करने का भी विधान हैं।
नवरात्र व्रत के धार्मिक महत्व के अलावा वैज्ञानिक महत्व हैं, जो स्वास्थ्य की दृष्टि से काफी लाभदायक होता हैं। व्रत करने से शरीर में चुस्ती-फुर्ती बनी रहती हैं। रोजाना कार्य करने वाले पाचन तंत्र को भी व्रत के दिन आराम मिलता हैं। बच्चे, बुजुर्ग, बीमार, गर्भवती महिला को नवरात्र व्रत का नहीं रखना चाहिए।

नवरात्र व्रत से संबंधित उपयोगी सुझाव

 • व्रत के दौरान अधिक समय मौन धारण करें।

• व्रत के शुरुआत में भूख काफी लगती हैं। ऐसे में नींबू पानी पिया जा सकता है। इससे भूख को नियंत्रित रखने में मदद मिलेगी।

• जहा तक संभव हो निर्जला उपवास न रखें। इससे शरीर में पानी कि कमी हो जाती हैं और अपशिष्ट पदार्थ शरीर के बाहर नहीं आ पाते। इससे पेट में जलन, कब्ज, संक्रमण, पेशाब में जलन जैसी कई समस्याएं पैदा हो सकती हैं।

• एक साथ खूब सारा पानी पीने के बजाए दिन में कई बार नींबू पानी पिएं।

• ज्यादातर लोगो को उपवास में अक्सर कब्ज की शिकायत हो जाती हैं। इसलिए व्रत शुरू करने के पहले त्रिफला, आंवला, पालक का सूप या करेले के रस इत्यादि पदार्थो का सेवन करें। इससे पेट साफ रहता है।

• व्रत के दौरान चाय, काफी का सेवन काफी बढ़ जाता है। इस पर नियंत्रण रखें।

व्रत के दौरान कौनसे खाद्य पदार्थ ग्रहण करें?

• व्रत में अन्न का सेवन वर्जित हैं। जिस कारण शरीर में ऊर्जा की कमी हो जाती हैं।

• अनाज कि जगह फलों व सब्जियों का सेवन किया जा सकता हैं। इससे शरीर को जरुरी ऊर्जा मिलती हैं।

• सुबह के समय आलू को फ्राई करके खाया जा सकता हैं। आलू में कार्बोहाइड्रेट प्रचुर मात्रा में होता है। इस लिए आलू खाने से शरीर को ताकत मिलती है।

• सुबह एक गिलास दूध पिलें। दोपहर के समय फल या जूस लें। शाम को चाय पी सकते हैं।

• कई लोग व्रत में एक बार ही भोजन करते हैं। ऐसे में एक निश्चित अंतराल पर फल खा सकते हैं। रात के खाने में सिंघाड़े के आटे से बने पकवान खा सकते हैं।
 
इससे जुडे अन्य लेख पढें (Read Related Article)


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें