Search

लोड हो रहा है. . .

शुक्रवार, अप्रैल 23, 2010

आंखो से व्यक्तित्व भाग:१

Ankho se Vyaktitva bhaga:1, Part:1


आंखो से व्यक्तित्व भाग:१

आंख मनुष्य के व्यक्तित्व का आईना हैं। जिस्से व्यक्ति प्रेम, द्वेश, क्रोध, अहम इत्यादि सभी प्रकार के दोष-गुण व्यक्ति कि आंख पर प्रति बिंब स्पष्ट स्वरुप से दिखाई देते हैं। चाहे वह पुरुष हो स्त्री उसके संपूर्ण चरित्र का मापदंड उसकी आंख पर से सरलता से जान सकते हैं।

सामुद्रिक शास्त्र के अनुशार आंखे साधारणतः दो प्रकार कि होती हैं बडी और छोटी आंख।

बडी आंख:- बडी आंख वाले व्यक्ति हर कार्य को करने हेतु आतुर, सदायक, परिश्रमी, अपना काम निकलने मे चतुर, अपनी योजनाओ को शीघ्र अमल में लाने वाले उद्यमी होते हैं।

छोटी आंख:- छोटी आंख वाले व्यक्ति आलसी, मंद गती से कार्य करने वाले, द्वि स्वभावी, एसे व्यक्ति पर लोग सरलता से विश्वास नहीं करते।


आंखो के विविध प्रकार
  • ज्यादा खुल्ली और चौडी आंखो वाले व्यक्ति निर्दोष एवं कठोर स्वभाव के होते हैं, एसे व्यक्ति को अच्छे बुरे का भेद करने मे अधिक समय लगता हैं।
  • लंबी आंखो वाले व्यक्ति ज्यादा चालाक, कार्य कूशल, थोडे स्वार्थी, कपट रखने वाले समझते हैं।
  • लंबी एवं पतली आंखो वाले व्यक्ति स्वभाव से कपटी, दुष्ट एवं अती लोभी होते हैं।
  • बदाम जेसी आंखो वाले व्यक्ति अविश्वासी होने से सर्वदा अपने ही स्वार्थ साधने हेतु प्रयास रत रहते हैं।
  • गोल आंखो वाले व्यक्ति ज्यादा भावुक, हर समय नया कार्य करने हेतु अधिक उत्साही होते हैं।
इससे जुडे अन्य लेख पढें (Read Related Article)


1 टिप्पणी: