Search

लोड हो रहा है. . .

मंगलवार, अक्तूबर 25, 2011

दीपावली पूजन मुहूर्त (26-अक्तूबर-2011)

deepawali 2011, 26 October, Subh Muhurat, auspicious timings,  deepawali 2011, Lakshmi Puja on deepavali 2011, Laxmi poojaa diwali date 2011, Deepawali- Festival of Light Festival History and Information od Dipawali, Deepawali, auspicious timings for Hindu festival Diwali, diwali celebrations, deepavali puja, deepawali pujan, deepavali, deewali, deepawali, diwali, divali, dipawali, deepavali 2011, festival of lights, diwali festival days, diwali five days festival, diwali festival days, diwali india, dhanteras, choti diwali, lakshmi puja, lakshmi puja on diwali, padwa, govardhan puja, Bhai Duj, bhai dooj, Diwali celebrations, Goverdhan Pooja, Bhratri Dooj, diwali 2011, diwali gifts, diwali india, diwali festival celebration, Get the information on five days of diwali, लक्ष्मी पूजन, लक्ष्मी पूजा, दिपावली शुभ मुहूर्त, दीपावली शुभ महूरत, दिवाली की पूजा, दिपावली पर दीपदानलक्ष्मी पुजन, लक्ष्मी पुजा, दिपावली, दीपावली, दीपावलि, दिपावलि, दिवाली, दीवाली, दिवालि, दीवालि, दिबाली, दीपाबली, લક્ષ્મી પૂજન, લક્ષ્મી પૂજા, દિપાવલી શુભ મુહૂર્ત, દીપાવલી શુભ મહૂરત, દિવાલી કી પૂજા, દિપાવલી પર દીપદાનલક્ષ્મી પુજન, લક્ષ્મી પુજા, દિપાવલી, દીપાવલી, દીપાવલિ, દિપાવલિ, દિવાલી, દીવાલી, દિવાલિ, દીવાલિ, દિબાલી, દીપાબલી, ಲಕ್ಷ್ಮೀ ಪೂಜನ, ಲಕ್ಷ್ಮೀ ಪೂಜಾ, ದಿಪಾವಲೀ ಶುಭ ಮುಹೂರ್ತ, ದೀಪಾವಲೀ ಶುಭ ಮಹೂರತ, ದಿವಾಲೀ ಕೀ ಪೂಜಾ, ದಿಪಾವಲೀ ಪರ ದೀಪದಾನಲಕ್ಷ್ಮೀ ಪುಜನ, ಲಕ್ಷ್ಮೀ ಪುಜಾ, ದಿಪಾವಲೀ, ದೀಪಾವಲೀ, ದೀಪಾವಲಿ, ದಿಪಾವಲಿ, ದಿವಾಲೀ, ದೀವಾಲೀ, ದಿವಾಲಿ, ದೀವಾಲಿ, ದಿಬಾಲೀ, ದೀಪಾಬಲೀ, லக்ஷ்மீ பூஜந, லக்ஷ்மீ பூஜா, திபாவலீ ுப முஹூர்த, தீபாவலீ ுப மஹூரத, திவாலீ கீ பூஜா, திபாவலீ பர தீபதாநலக்ஷ்மீ புஜந, லக்ஷ்மீ புஜா, திபாவலீ, தீபாவலீ, தீபாவலி, திபாவலி, திவாலீ, தீவாலீ, திவாலி, தீவாலி, திபாலீ, தீபாபலீ, లక్ష్మీ పూజన, లక్ష్మీ పూజా, దిపావలీ శుభ ముహూర్త, దీపావలీ శుభ మహూరత, దివాలీ కీ పూజా, దిపావలీ పర దీపదానలక్ష్మీ పుజన, లక్ష్మీ పుజా, దిపావలీ, దీపావలీ, దీపావలి, దిపావలి, దివాలీ, దీవాలీ, దివాలి, దీవాలి, దిబాలీ, దీపాబలీ, ലക്ഷ്മീ പൂജന, ലക്ഷ്മീ പൂജാ, ദിപാവലീ ശുഭ മുഹൂര്ത, ദീപാവലീ ശുഭ മഹൂരത, ദിവാലീ കീ പൂജാ, ദിപാവലീ പര ദീപദാനലക്ഷ്മീ പുജന, ലക്ഷ്മീ പുജാ, ദിപാവലീ, ദീപാവലീ, ദീപാവലി, ദിപാവലി, ദിവാലീ, ദീവാലീ, ദിവാലി, ദീവാലി, ദിബാലീ, ദീപാബലീ, ਲਕ੍ਸ਼੍ਮੀ ਪੂਜਨ, ਲਕ੍ਸ਼੍ਮੀ ਪੂਜਾ, ਦਿਪਾਵਲੀ ਸ਼ੁਭ ਮੁਹੂਰ੍ਤ, ਦੀਪਾਵਲੀ ਸ਼ੁਭ ਮਹੂਰਤ, ਦਿਵਾਲੀ ਕੀ ਪੂਜਾ, ਦਿਪਾਵਲੀ ਪਰ ਦੀਪਦਾਨਲਕ੍ਸ਼੍ਮੀ ਪੁਜਨ, ਲਕ੍ਸ਼੍ਮੀ ਪੁਜਾ, ਦਿਪਾਵਲੀ, ਦੀਪਾਵਲੀ, ਦੀਪਾਵਲਿ, ਦਿਪਾਵਲਿ, ਦਿਵਾਲੀ, ਦੀਵਾਲੀ, ਦਿਵਾਲਿ, ਦੀਵਾਲਿ, ਦਿਬਾਲੀ, ਦੀਪਾਬਲੀ, লক্ষ্মী পূজন, লক্ষ্মী পূজা, দিপাৱলী শুভ মুহূর্ত, দীপাৱলী শুভ মহূরত, দিৱালী কী পূজা, দিপাৱলী পর দীপদানলক্ষ্মী পুজন, লক্ষ্মী পুজা, দিপাৱলী, দীপাৱলী, দীপাৱলি, দিপাৱলি, দিৱালী, দীৱালী, দিৱালি, দীৱালি, দিবালী, দীপাবলী, ଲକ୍ଷ୍ମୀ ପୂଜନ, ଲକ୍ଷ୍ମୀ ପୂଜା, ଦିପାଵଲୀ ଶୁଭ ମୁହୂର୍ତ, ଦୀପାବଲୀ ଶୁଭ ମହୂରତ, ଦିବାଲୀ କୀ ପୂଜା, ଦିପାବଲୀ ପର ଦୀପଦାନଲକ୍ଷ୍ମୀ ପୁଜନ, ଲକ୍ଷ୍ମୀ ପୁଜା, ଦିପାବଲୀ, ଦୀପାବଲୀ, ଦୀପାବଲି, ଦିପାଵଲି, ଦିଵାଲୀ, ଦୀବାଲୀ, ଦିବାଲି, ଦୀଵାଲି, ଦିବାଲୀ, ଦୀପାବଲୀ,
दीपावली पूजन मुहूर्त (26-अक्तूबर-2011)
लेख साभार: गुरुत्व ज्योतिष पत्रिका (अक्टूबर-2011)

मां लक्ष्मी कि कृपा प्राप्त करने हेतु एवं उनका स्थायी निवास हो सके इस उद्देश्य से घर-दुकान-व्यवसायिक कार्यालय में दीपावली के दिन लक्ष्मी पूजन हेतु दिन के सबसे शुभ मुहूर्त को लिया जाता हैं. इस वर्ष दीपावली का पर्व बुधवार , 26 अक्तूबर, 2011 में कार्तिक मास कि अमावस्या, चित्रा एवं स्वाति नक्षत्र में, प्रीती योग में मनाया जायेगा. दीपावली के दिन अमावस्या तिथि, प्रदोष काल, शुभ लग्न चौघा़डिया मुहूर्त विशेष का अत्याधिक महत्व होता हैंGURUTVA KARYALAY | GURUTVA JYOTISH
26 अक्तूबर, 2011 के दिन सूर्योदयी नक्षत्र चित्रा, लेकिन रात्री 09:43:33 बजे बाद स्वाती नक्षत्र रहेगा, इस दिन सूर्योदयी योग विष्कुंभ संध्या 06:29:37 बजे बाद प्रीति योग रहेगा। सूर्योदयी करण चतुष्पाद दोपहर 03:19:36 बजे पश्चयात नाग करण रहेगा। सूर्योदय के समय चन्द्रमा कन्या राशि में दोपहर 11:16:00 बजे तुला राशि में भ्रमण करेगा। GURUTVA KARYALAY | GURUTVA JYOTISH
प्रदोष काल 2 घण्टे एवं 24 मिनट का होता हैं। अपने शहर के सूर्यास्त समय अवधि से लेकर अगले 2 घण्टे 24 मिनट कि समय अवधि को प्रदोष काल माना जाता हैं। अलग- अलग शहरों में प्रदोष काल के निर्धारण का आधार सूर्योस्त समय के अनुशार निर्धारीत करना चाहिये।
दीपावली प्रदोष काल मुहूर्त अपने शहर के सूर्यास्त समय से 2 घन्टे 24 मिनट तक का समय शुभ मुहूर्त समय के लिये प्रयोग किया जाता हैं. इसे प्रदोष काल समय कहा जाता हैं। इस वर्ष 26 अक्तूबर, 2011 (दीपावली) को भारतीय समय अनुशार नई दिल्ली में सूर्यास्त संध्या 05 बज कर 42 मिनिट पर होगा। संध्या  05 बज कर 42 मिनिट से आरम्भ होकर रात के 08 बजकर 06 मिनट तक का समय प्रदोष काल रहेगा। GURUTVA KARYALAY | GURUTVA JYOTISH
26 अक्तूबर, 2011 को प्रदोष काल में भी स्थिर लग्न (वृषभ राशि) हो रहा हैं, स्थिर लग्न का समय सबसे उतम माना जाता हैं। दिपावली के दिन प्रदोष काल व स्थिर लग्न दोनों का संयोग संध्या 06:46:37 बजे से लेकर रात्री 08:42:04 बजे तक का समय रहेगा। प्रदोष काल के दौरान संध्या 07:20 बजे से 08:58 बजे तक शुभ चौघडिया होने से मुहुर्त की शुभता में वृद्धि होती हैं। GURUTVA KARYALAY | GURUTVA JYOTISH
जिसमें विशेष रूप से श्री गणेशपूजन, श्री महालक्ष्मी पूजन, कुबेर पूजन, व्यापारिक खातों का पूजन, दीपदान एवं ……………..>>
>> Read Full Article Please Read GURUTVA JYOTISH  OCT-2011 .
दीपावली चौघडियां मुहूर्त
दीपावली चौघ़डिया मुहूर्त समय ……………..>>
>> Read Full Article Please Read GURUTVA JYOTISH  OCT-2011
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त दीपावाली के दिन
·         लाभ मुहूर्त सुबह में 6:13:50 से 7:40:53 तक
·         अमृत मुहूर्त सुबह में 7:40:53 से 09:07:57 तक
·         शुभ मुहूर्त दोपहर में ……………..>>
·         चर मुहूर्त दोपहर में 02:56:12 से 04:23:16 तक
·         लाभ मुहूर्त दोपहर में ……………..>>
·         शुभ मुहूर्त संध्या में 07:23:16  से 08:56:12 तक
·         शुभ मुहूर्त संध्या में 07:23:16  से 08:56:12 तक
·         अमृत मुहूर्त रात में ……………..>>
·         चर मुहूर्त रात में 10:29:08 से रात 12:02:04 तक
नोट: उपरोक्त वर्णित सूर्यास्त का समय निरधारण नई दिल्ली के अक्षांश रेखांश के अनुशार आधुनिक पद्धति से किया गया हैं। इस विषय में विभिन्न मत एवं सूर्यास्त ज्ञात करने का तरीका भिन्न होने के कारण सूर्यास्त समय का निरधारण भिन्न हो सकता हैं। सूर्यास्त समय का निरधारण स्थानिय सूर्यास्त के अनुशार हि करना उचित होगा।

संपूर्ण लेख पढने के लिये कृप्या गुरुत्व ज्योतिष -पत्रिका अक्टूबर -2011 का अंक पढें।
इस लेख को प्रतिलिपि संरक्षण (Copy Protection) के कारणो से यहां संक्षिप्त में प्रकाशित किया गया हैं।
>> गुरुत्व ज्योतिष पत्रिका (अक्टूबर -2011)
OCT-2011





पाठको की पसंद
इससे जुडे अन्य लेख पढें (Read Related Article)


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें