Search

लोड हो रहा है. . .

शनिवार, अप्रैल 23, 2011

धनप्राप्ति में बाधक हैं मकड़ी के जाले

मकड़ी के जाले से रुकता हैं धन, मकड़ी के जाले हटाये धनलाभ पाये, टोटके, प्रतिकार, removeds pider webs and Received money, removeds pider webs and get money, removed spider webs and Realization money, Recovery of money off spider webs, Totkae, remedy,

धनप्राप्ति में बाधक हैं मकड़ी के जाले

मकड़ी के जाले ज्यादातर घर, ओफिस, दुकान इत्यादि जगहो पर पाये जाते हैं, विद्वानो के मतानुशार वास्तुशास्त्र के अनुशार मकड़ी के जाले अशुभ होते हैं। मकड़ी के जाले से भवन में निवास कर्ता की आर्थिक उन्नति बाधित होती हैं, आर्थिक अभाव होने लगता हैं, स्वास्थ्य से संबंधी परेशानियां होने की संभावनाएं बढजाती हैं।

मकड़ी के जाले अशुभ क्यों माने जाते हैं?
वास्तु के अनुसार जिस भवन में मकड़ी के जाले होते हैं, ठीक नियमित साफ-सफाई नहीं होती, उस भवन में निवास या व्यवसाय करने वालो को धन की कमी बनी रहती हैं। मकड़ी के जाले की अशुभता के कारण व्यक्ति चाहे जितना धन कमा लें लेकिन बचत कर पाता, धन की कमी बनी रहती हैं। आय से व्यय अधिक होने लगते हैं। अनावश्यक खर्च बढजाते हैं, घर में रोग-बिमारी क्लेश इत्यादि घर कर जाते हैं शीघ्र समाप्त नहीं होते।

मकड़ी के जाले को दरिद्रता का प्रतीक माना जाता हैं। मकड़ी के जाले से घर की बरकत प्रभावित होती हैं। मकड़ी के जाले होते हैं वहां अलक्ष्मी निवास करती हैं धन की देवी महालक्ष्मी वहां निवास नहीं करती हैं। जिस घर में या भवन में नियमित साफ-सफाई होती रहती हैं उस घर में देवी लक्ष्मी की कृपा बरसती हैं, ऎसा शास्त्रोक्त विधान हैं।

अपने घर, दुकान, ओफिस इत्यादी में साफ-सफाई के उपरांत यदि मकड़ी के जाले लटकते हैं, तो जाले को देखते ही उसे उन्हें तुरंत निकाल दें। मकड़ी के जाले निकलते ही धन का आगमन होगा और अनावस्यक खर्च कम होंगे और धन का संचय होने लगेगा। विद्वानो के मतानुशार मकड़ी के जाले स्वास्थ्य के लिए भी नुक्शानकारी होते हैं। इसी लिए मकड़ी के जाले भवन में नहीं रहने देना चाहिए।

मानाजाता हैं मकड़ी के जाले बुरी शक्तियों को अपनी और आकर्षित करते हैं, घर में सकारात्मक उर्जा खत्म होती हैं और नकारात्मक उर्जा का प्रभाव बढने लगता हैं। जिससे घर के सदस्यों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ने लगता हैं। इस लिये भवन से मकड़ी के जाले दिखते ही हटा देने चाहिए।

नोट: हर शनिवार, अमावस्या को घरकी साफ-सफाई करना अधिक लाभप्रद होता हैं। इस दिन घर से पूराना कबाड़-भंगार(अनावश्यक चिज-वस्तु) इत्यादी भी निकाल दें।
इससे जुडे अन्य लेख पढें (Read Related Article)


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें