Search

लोड हो रहा है. . .

गुरुवार, फ़रवरी 11, 2010

ब्रह्माकृत शिवस्तोत्र

Brahma Krut Shiva Stotra

ब्रह्मा कृत शिवस्तोत्र



नमस्ते भगवान रुद्र भास्करामित तेजसे।
नमो भवाय देवाय रसायाम्बुमयात्मन॥१॥

शर्वाय क्षितिरूपाय नंदीसुरभये नमः।
ईशाय वसवे सुभ्यं नमः स्पर्शमयात्मने॥२॥

पशूनां पतये चैव पावकायातितेजसे।
भीमाय व्योम रूपाय शब्द मात्राय ते नमः॥३॥

उग्रायोग्रास्वरूपाय यजमानात्मने नमः।
महाशिवाय सोमाय नमस्त्वमृत मूर्तये॥४॥

॥इति श्री ब्रह्माकृत शिवस्तोत्र संपूर्ण॥
इससे जुडे अन्य लेख पढें (Read Related Article)


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें